Publish With Us

Follow Penguin

Follow Penguinsters

Follow Hind Pocket Books

Treta/त्रेता

Treta/त्रेता

Udbhrant/उद्भ्रांत
Select Preferred Format
<
Buying Options
Paperback / Hardback

प्रस्तुत महाकाव्य राम के ईश्वरीय मिथक के माध्यम से एक ओर मौजूदा समय के ज्वलंत विमर्श—स्त्री और दलित—को प्रतिबिंबित करते हुए जाति, वर्ग, संप्रदाय, आदिवासी-उत्पीड़न, हिंसा, अनाचार, आतंकवाद, विश्वयुद्ध की विभीषिकाओं और बाज़़ार के बढ़ते प्रभाव से जुड़़ी समस्याओं पर विचार करने के लिए प्रेरित करता है, तो दूसरी ओर समस्त अराजक, पाशविक और नकारात्मक प्रवृत्तियों को शमित करने के लिए संघर्ष का आह्वान भी। यह संशोधित एवं परिवर्धित संस्करण प्रथम बार प्रस्तुत किया गया है। 

Imprint: Penguin Swadesh

Published: Jan/2024

ISBN: 9780143465393

Length : 476 Pages

MRP : ₹450.00

Treta/त्रेता

Udbhrant/उद्भ्रांत

प्रस्तुत महाकाव्य राम के ईश्वरीय मिथक के माध्यम से एक ओर मौजूदा समय के ज्वलंत विमर्श—स्त्री और दलित—को प्रतिबिंबित करते हुए जाति, वर्ग, संप्रदाय, आदिवासी-उत्पीड़न, हिंसा, अनाचार, आतंकवाद, विश्वयुद्ध की विभीषिकाओं और बाज़़ार के बढ़ते प्रभाव से जुड़़ी समस्याओं पर विचार करने के लिए प्रेरित करता है, तो दूसरी ओर समस्त अराजक, पाशविक और नकारात्मक प्रवृत्तियों को शमित करने के लिए संघर्ष का आह्वान भी। यह संशोधित एवं परिवर्धित संस्करण प्रथम बार प्रस्तुत किया गया है। 

Buying Options
Paperback / Hardback

Udbhrant/उद्भ्रांत

4 सितंबर 1948 को नवलगढ़, (राजस्थान) में जन्मे उद्भ्रांत शीर्षस्थ कवि हैं। 140 से अधिक पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पुरस्कारों से सम्मानित। समकालीन कवियों में महाकाव्य और प्रबंध काव्य लिखने के लिए सबसे अलग और अनूठी पहचान। पौराणिक प्रसंगों को काव्य के माध्यम से पुनर्जीवित करने के लिए प्रसिद्ध।  

error: Content is protected !!